matomo

आपके बगीचे के धातुवाले गेट की देखभाल के लिए कुछ आसान सुझाव और तकनीक

आई मार्क द्वारा– stockadobe.com

अब आपके बगीचे के धातुवाले गेट की देखभाल करना हुआ बिल्कुल आसान!

अपने घर की सुरक्षा के लिए मेटल गार्डन गेट्स का चुनाव आपकी सबसे बढ़िया पसंद में से एक हैं| ये गेट्स ने केवल बहुत मज़बूत होते हैं, बल्कि इनकी क्वॉलिटी और खूबसूरती भी सबसे बेहतरीन होती है| ये आपके घर और बगीचे की सुंदरता में चार चांद लगा देते हैं| हालांकि लकड़ी के गेट्स की तुलना में इनका खर्च अधिक होता है, लेकिन यदि नियमित इनकी सही देखभाल की जाए तो ये सालों-साल अपनी खूबसूरती और मज़बूती बनाए रखते हैं| चूंकि आप अपने घर के लिए मेटल गार्डन गेट्स लगवाने के लिए भारी रकम खर्च करते हैं, इसलिए इनकी मज़बूती और खूबसूरती सालों-साल बनाए रखने के लिए यह बहुत ज़रूरी है कि आप कम से कम महीने में एक बार अवश्य इनकी साफ़-सफ़ाई करें|

यदि आपके घर में आपने मैटल गार्डल गेट लगवाया है और आपको यह नहीं पता कि इनकी साफ़-सफ़ाई और देखभाल किस तरह की जाती है तो लीजिए हम आपको बताते हैं इसके कुछ आसान तरीके, मेटल गार्डन गेट की साफ़-सफ़ाई मुश्किल काम नहीं, लेकिन हां, अन्य तरह के गेट की तुलना में इसकी साफ़-सफ़ाई में समय अधिक लगता है| तो आइए हम आपको बताते हैं कि इन गेट्स को सही सलामत और अच्छी हालत में बनाए रखने का सही तरीका क्या हैं?

चरण १ – साबुन वाले पानी से गेट को अच्छी तरह धोएं

सबसे पहले एक बाल्टी में पानी लेकर इसमें सौम्य डिटर्जेंट डालें और थोड़ा सा गुनगुना पानी भी मिला दें| इसे हाथों से अच्छी तरह हिलाकर, भरपूर झाग तैयार कर लें| अब एक स्पंज लेकर, इस घोल में भिगो लें| इस घोल वाले स्पंज से गेट को साफ़ करें| एक रगड़ने वाला ब्रश लेकर, ब्रश से गेट को घिसकर साफ़ करें| ऐसा करने से गेट पर मौजूद पक्षियों की बीट, धूल-मिट्टी अच्छी तरह साफ़ हो जाएगी| सबसे पहले एक गेट से शुरूआत करें| इसको दोनों तरफ से स्पंज से साफ़ करें और इसके बाद दूसरा गेट साफ़ करें|

चरण २ – पानी से धोएं

साबुन वाले पानी से दोनों गेट को अच्छी तरह धोने के बाद गार्डन में लगे पानी के पाइप से दोनों को गेट पर पानी डालकर ‘अच्छी तरह धोएं| ध्यान रखें, दोनों गेट पर साबुन के कोई अवशेष न रहें| यदि साबुन के अवशेष रह जाएंगे तो गेट का रंग खराब हो जाएगा| और यक़ीनन आप ऐसा नहीं चाहेंगे| एक बार साबुन पूरी तरह धुल जाने और गेट पूरी तरह साफ़ हो जाने के बाद, एक तौलिए से दोनों गेट्स को अच्छी तरह पोंछकर, सूखा बना लें| दोनों गेट्स को हवा में पूरी तरह सूखने दें|

चरण ३ – जंग/सड़न की जांच करें

जब बात मेटल गार्डन गेट्स की हो तो सबसे बड़ी फ़िक्र इनको जंग/सड़न लगने की होती है| यदि इन गेट्स की नियमित रूप से सही देखभाल न की जाए तो इस तरह के गेट्स किसी काम के नहीं रह जाते| इसलिए नियमित जांच करते रहें कि इन पर जंग/सड़न तो नहीं| शुरूआत में ही जंग से निपटना आसान होता है| एक बार यह बहुत फैल जाए तो पूरा गेट बर्बाद हो जाने का जोखिम बढ़ जाता है| क्योंकि फिर इसे हटाना और साफ़ करना मुश्किल हो जाता है|

चरण ४ – जंग को साफ़ करें

यदि आपको मेटल गार्डन गेट्स पर जंग के हल्के से भी संकेत दिखाई दें तो सैण्ड पेपर से घिसकर, इसे साफ़ कर लें| धीरे-धीरे मगर पूरी तरह इस जंग वाली सतह को घिसकर साफ़ कर लें| लेकिन ध्यान रखें, बहुत ज़ोर से न घिसें, वरना गेट पेंट भी उखड जाएगा| इससे आपका मरम्मत का खर्च भी बढ़ जाएगा| गेट के दोनों तरफ जंग की जांच करें और इसे साफ़ कर लें|

चरण ५ – पानी से धोकर, साफ़ करें

एक बार गेट से जंग को पूरी तरह साफ़ करने के बाद, गेट को चरण-१ में बताए तरीके से पानी से अच्छी तरह धो लें| इसके बाद साबुन वाले पानी से धोकर, अच्छी तरह पानी डालकर गेट धोएं और फिर तौलिए से पोंछकर, गेट को सूखा बना लें| गेट को हवा में कम से कम ३० मिनट तक सूखने दें|

चरण ६ – प्राइमर लगाएं

अपने गेट की ज़रूरत के अनुसार प्राइमर चुनें| यह भी ध्यान रखें कि गेट को जंग से सुरक्षित रखने के लिए इस प्राइमर में जंग-रोधक घटक अवश्य मौजूद हों| स्प्रे द्वारा लगाया जा सकने वाला प्राइमर चुनें ताकि आप इसे आसानी से लगा सकें| पहले तो गेट को पूरी तरह खोल दें| इसके बाद गेट के ऊपरी हिस्से से प्राइमर स्प्रे करना शुरू करें| ऊपर से नीचे की तरफ जाते हुए पूरे गेट को स्प्रे कर दें| अब दूसरे गेट पर भी इसी तरह प्राइमर लगा दें| गेट को जंग से अधिक सुरक्षित रखने के लिए गेट पर प्राइमर के दो कोट लगा दें| लेकिन दूसरा कोट लगाने से पहले, पहले वाला कोट अच्छी तरह सूखने दें|

चरण ७ – गेट के लॉक्स और लैच को ल्युुब्रिकेट करें

यह एक सबसे महत्त्वपूर्ण चरण है और इसलिए आप बहुत ही सावधानी के साथ एक सही ल्युब्रिकेट चुनें| गेट के लॉक्स और लैच को ल्युब्रिकेट करने के लिए सबसे उत्तम ल्युब्रिकेट है WD-40 | यह न केवल गेट के लॉक्स और लैचेस को ल्युब्रिकेट करता है, बल्कि इन्हें जंग से सुरक्षित बनाने में मदद भी करता है, यदि WD-40 से गेट के लॉक्स और लैचेस को ल्युब्रिकेट किया जाए तो आपको इनके लंबे समय तक बेरोकटोक सहजता से काम करने का भरोसा रहेगा| जंग के कारण ही गेट के लॉक्स और लैचेस से सहजता से खुलने और बंद होने में रूकावट पैदा होती है| ये अच्छी तरह काम नहीं कर पाते| WD-40 से इन लैचेस और लॉक्स को ल्युब्रिकेट करने से जंग इनसे कोसों दूर रहेगा और गेट अपनी पूरी कुशलता से काम करते रहेंगे|

चरण ८ – पेंट करें

सफ़ाई की इस प्रक्रिया का अंतिम चरण है- गेट की पेंटिंग| हर बार सफ़ाई करते समय गेट को पेंट करने की ज़रूरत नहीं, पर साल में एक बार इसे अवश्य पेंट करें| पेंट का चुनाव करते समय अपने गार्डन गेट के प्रकार और इसके निर्माण में इस्तेमाल की गई मैटल का ध्यान अवश्य रखें| गेट पेंट करने से जंग के खिलाफ़ इन्हें मज़बूत सुरक्षा मिलेगी| यदि एक कोट पर्याप्त ने हो, तो पेंट का दूसरा कोट भी लगा दें| लेकिन ध्यान रखें पहला कोट पूरी तरह सूखने के बाद ही दूसरा कोट लगाएं|

मैटल गार्डन गेट्स ने केवल खूबसूरत होते हैं, बल्कि सबसे अधिक सुरक्षा उपलब्ध कराने के साथ-साथ ये अधिक टिकाऊ भी होते हैं और आपके घर की सुंदरता भी बढ़ाते हैं| उपरोक्त तरीके से आप अपने मैटल गार्डन को बिल्कुल सही और सहजता से काम करने की स्थिति में बनाए रख सकते हैं| साथ ही, इनका रूपरंग भी बनाए रख सकते हैं| बिल्कुल नए जैसा…सालों-साल!

अस्वीकृति

डब्ल्यूडी-40 प्रोडक्ट्स के लिए बताए गए और प्रदर्शित उपयोग डब्ल्यूडी-40 कंपनी को खुद उपयोगकर्ताओं द्वारा प्रदान किए गए हैं। इन उपयोगों को डब्ल्यूडी-40 कंपनी द्वारा परखा नहीं गया है और इसे डब्ल्यूडी-40 कंपनी द्वारा उपयोग के लिए सुझाव की सिफारिश नहीं माना जाना चाहिए। डब्ल्यूडी-40 कंपनी के उत्पादों का उपयोग करते समय सामान्य ज्ञान का उपयोग किया जाना चाहिए। हमेशा निर्देशों का पालन करें और पैकेजिंग पर छपी चेतावनियों पर ध्यान दें।

हमसे संपर्क करें

Pidilite Industries Regent Chambers, 7th Floor Jamnalal Bajaj Marg 208 Nariman Point Mumbai 400 021, India

© 2019 WD-40 Company